Sunday, June 24, 2018

Reality of Blogging for Begainners 2018 in Hindi

दोस्तों आप लोगो को टाइटल पढ़कर हैरानी हो रही होगी की ब्लॉग्गिं की सच्चाई का क्या मतलब हैReality of Blogging for Begainners, चिंता मत करिए यहाँ पर में केवल ये बताने की कोसिस कर रहा हूँ की आखिर किसको ब्लॉग्गिं करना चाहिए और किसको नहीं. क्योंकि आज हर दूसरा इंसान ब्लॉगिंग कर रहा है अच्छी बात है पर जल्दबाजी कर देते हैं. मतलब क्या है?आगे पढ़िए - 
what is real blogging,what is blogging,Reality of Blogging for Begainners in Hindi,How to earn money from blogging,blogging tips and idea,starting career with blog,make money onlone from blogger
Reality of Blogging for Begainners 


Reality of Blogging
 for Begainners     

आप सब जानते है की आज की दुनिया में न जाने कितने लोग ब्लॉगर में अपना भविष्य शुरू करना चाहते है Starting a Career with Blog लेकिन कुछ समय के बाद वो फेल हो जाते है. में आज आप सब को इसी के बारे में बताने वाला हु की लोग इस क्षेत्र में क्यों विफल होते है. आप सब लोग ब्लॉग्गिंग सुरु करने से पहले ये सोच ले है कि हम इससे पैसे कैसे कमाए. सब लोग ब्लॉग बना लेते है, और उसका बहुत अच्छा डिज़ाइन भी कर लेते है और उस पर कुछ भी लिखना शुरू कर देते है. और एक या दो महीने बाद फिर सोचते है की न तो मेरे ब्लॉग पोस्ट को कोई पद रहा है और नहीं पैसे आ रहे है. फिर निराश होकर अपने ब्लॉग को बंद कर देते है. बस इसमें एक काम करना होता है की आपको निराश नहीं होना है बस आप हर कुछ न लिखकर आपको जो भी बहुत अच्छे से आता है वही लिखिए और खुद से लिखिए. और सबसे बड़ी बात पैसा कमाने का ख्याल कुछ महीनो के लिए अपने दिमाग से निकल दो बाद में पैसा ही आएगा.

में आपको को बताता हु कि ऐसा क्यों होता है. सबसे बड़ी गलती ये करते है लोग की वो सोचते है की इससे ये भी पैसा कमा रहा है और वो भी पैसा कमा रहा है तथा You Tube पर दो या तीन वीडियो देख लिए या इंटरनेट पर सर्च कर लिया की How to earn money from blogging. और आपको वहाँ पर बड़ा चढ़ा कर बताया जाता है, और आप बहुत ज्यादा उत्साहित होकर ब्लॉग्गिंग सुरु कर देते है. यही है विफलता का सबसे बड़ा कारण. जो लोग ब्लॉगिंग से पैसा कमाते है आपको सिर्फ उनके पैसे ही दिखाई देते है उनकी मेहनत को नहीं देखते है.

अब बात करते है की ब्लॉग्गिंग किस को करनी चाहिए और किसको नहीं. ऐसे लोग ब्लॉग्गिंग के बारे में बिल्कुल न सोचें जो इससे केवल पैसा कमाना चाहते है वो भी एक या दो महीनो में. ऐसा नहीं होता है, अब मान लीजिए आप डॉक्टर या इंजीनियर बनना चाते है, तो क्या एक या दो महीने में ही बन जाते है, नहीं उसके लिए कड़ी मेहनत करनी होती है, ऐसा ही ब्लॉग्गिंग में होता है और दुनिया में कोई भी इंसान एक या दो महीनो में सफल नहीं होता उसके लिए मेहनत करनी होती है.

ये भी पढ़िए                                      



अब आप ये सोचेंगे की ब्लॉग्गिंग तो सभी पैसा कमाने के लिए ही करते है, ये बात बिलकुल सही है, लेकिन उसे थोड़ा टाइम दीजिये जल्दबाजी मत करिये आपको भविष्य में बेहतर परिणाम मिलेंगे. और ऐसे लोग भी ब्लॉग्गिंग नहीं कर सकते जो ये ही तय नहीं कर पाते कि मुझे इसमें करना क्या है और दूसरों के आर्टिकल को कॉपी करके सोचते है की हम तो ब्लॉगर बन गए, तो ऐसे लोग तो इसे बिलकुल ही दूर रहे. यदि ब्लॉग्गिंग करना चाहते है तो पक्की प्लानिंग से मैदान में उतरिये पक्का आप सफल होंगे.

अब बात आती है ऐसे लोगो की जो ब्लॉग्गिंग तो करना चाहते है और मेहनत के लिए भी तैयार है पर वो ये नहीं पक्का कर पाते कि इसमें कौन से टॉपिक पर लिखे. इसमें इतना सोचने की कोई बात नहीं है, आप जिस भी क्षेत्र में जानकारी रखते है उसे बिलकुल सही तरीके से लिखे ताकि पड़ने वाला आसानी से समझ जाये. बस इतना ध्यान रखना कि जो भी जानकारी आप लिख रहे हो वो खुद से ही लिखे किसी की नक़ल न करे, और सबसे महत्वपूर्ण बात कि आप धैर्य रखे  अब आप बोलेंगे की कितना तो इसका जबाब है कम से कम छह महीने और फिर आपकी मेहनत और लिखावट पर निर्भर करता है. आपका लिखने का तरीका और समझने का तरीका बहुत ही अच्छा होना चाहिए.

निष्कर्ष – तो दोस्तों ये थी Reality of Blogging for Begainners 2018. ये थे कुछ ब्लॉग्गिंग के उपाय Blogging Idea और आप अपना इसमें भविष्य भी बना सकते है भारत में - Blogging as a Career in India 2018. दोस्तों इस सारी कहानी का सार ये है की आप जब भी ब्लॉग्गिंग शुरू करे तो जल्द बाजी बिलहूल न करे और किसी की नक़ल बिलकुल भी न करे आपको जो भी आता है, जिस भी क्षेत्र में बेझिजक लिखे और अच्छा लिखें, और थोड़े समय के लिए पेसो के बारे में न सोचे सिर्फ मेहनत करे क्योंकि जो भी मेहनत करता है वही सफल होता है. Reality of Blogging for Begainners 2018.

यदि आपको जानकारी पसंद आई हो तो शेयर जरूर करे

0 comments: