Thursday, January 24, 2019

Advance 5g Network in India 2019 की पूरी जानकारी हिंदी में

आज की पोस्ट में आपको Advance 5g Network in India 2019 की पूरी जानकारी हिंदी में देने वाला हूँ. इसके साथ ही में आपको 5g network countries कौन कौन सी हैं एवं 5g speed in india कितनी होगी तथा 5g launched किन किन countries में हुआ है और 5g network in world में क्या स्थिति है. यदि आप नेटवर्क में इंट्रेस्ट रखते हैं तो पोस्ट को पूरा पढ़िये.
Advance 5g Network in India 2019 की पूरी जानकारी हिंदी में
Advance 5g Network in India 2019 की पूरी जानकारी हिंदी में

Advance 5g Network in India 2019 की पूरी जानकारी हिंदी में

Advance 5g Network in India 2019 के बारे में आपके मन में कई तरह के सवाल पैदा होते हैं 5g speed कितनी होगी, इसका लाभ हम कब तक ले पाएंगे, 5g, 4g से कितना बेहतर है आदि. आज की पोस्ट को यदि आप पूरा पढ़ते हैं तो आपको सब पता चल जाएगा के बारे में. तो आप पोस्ट को कंटिन्यू पढ़ते रहिये



दोस्तों आज तकनीकी ज़माने में फोन से हमारा बहुत गहरा सम्बन्ध जुड़ चुका है. एक ज़माने में वायर के फोन आते थे फिर जमाना थोड़ा चेंज हुआ और बिना तार वाले फोन आने लगे, इसके बाद तो इतना चेंज आया तकनीक में की आज हम WireLess स्मार्टफोन यूज कर रहे हैं. फोन की तकनीक के बदलते ज़माने में इसकी पीढ़ी (generation) भी काफी बदल गयी है जैसे सबसे पहले 1G आया जिसमे केवल बात होती थी , फिर 2G आया जिसमे आप बात के साथ साथ नेट और मेसेज कर सकते थे. इस सभी के बाद आय 3G जिसमे बात, मेसेज, तेज इंटरनेट और video calling कर सकते थे. फिर आया 4g LTE जिसको आप सभी बहुत अच्छे से जानते हैं.

एक दिन मैने सोचा की क्यों न आप सभी को Advance 5g Network in India 2019 की पूरी जानकारी हिंदी में दे दूँ, क्योंकि अब 5g Technology के आने में कोई देर नहीं है, हम इसी साल में इसका यूज कर पाएंगे. तो सबसे पहले जानलें की 5g Network Technology क्या होती है?

5g Network Technology क्या होती है?

5g Network Technology अभी तक की सबसे नयी cellular network technology है जिसका पूरा नाम Fifth Generation यानी नेटवर्क की पांचवीं पीढ़ी है. इसको इंजीनियरों ने बहुत मेहनत और ख़ास तौर पर बनाया है. जिससे नेटवर्क की स्पीड को बहुत तेज किया जा सके और यूजर रिस्पॉन्सिव हो सके. 5g Network Technology में डेटा को wireless broadband connection के द्वारा बहुत ही हाई स्पीड में ट्रांसमिट किया जा सकेगा जिसकी स्पीड आपकी सोच से भी ज्यादा यानि 20 Gb/s की होगी. 5g में बहुत ही ज्यादा bandwidth है तथा advanced antenna technology है जिसकी बजह से कितना भी Data वायरलेस के माध्यम से ट्रांसमिट किया जा सकेगा.



speed, क्षमता और विलंबता में सुधार के अलावा, 5G Network प्रबंधन सुविधाओं की पेशकश करता है, उनमें नेटवर्क स्लाइसिंग है, जो मोबाइल ऑपरेटरों को एक ही भौतिक 5 g Network Technology के भीतर कई आभासी नेटवर्क बनाने की अनुमति देता है. यह क्षमता wireless network connection को विशिष्ट उपयोगों या व्यावसायिक मामलों का समर्थन करने में सक्षम करेगी और इसे सेवा के आधार पर बेचा जा सकता है. उदाहरण के लिए, एक सेल्फ-ड्राइविंग कार के लिए एक नेटवर्क स्लाइस की आवश्यकता होती है जो कि बहुत तेज़, कम-विलंबता कनेक्शन प्रदान करती है ताकि वाहन वास्तविक समय में नेविगेट कर सके. एक घरेलू उपकरण, हालांकि, कम-शक्ति, धीमी कनेक्शन के माध्यम से जोड़ा जा सकता है क्योंकि उच्च प्रदर्शन महत्वपूर्ण नहीं है. चीजों का इंटरनेट सुरक्षित, डेटा-केवल कनेक्शन का उपयोग कर सकता है.

5G Network Technology और सेवाओं को मोबाइल और इंटरनेट-सक्षम उपकरणों पर बढ़ती निर्भरता को समायोजित करने के लिए अगले कई वर्षों में चरणों में तैनात किया जाएगा. कुल मिलाकर, 5G से कई नए अनुप्रयोगों, उपयोगों और Business मामलों के उत्पन्न होने की उम्मीद है क्योंकि प्रौद्योगिकी लुढ़की हुई है.

5g Network Technology के फीचर्स क्या क्या हैं?

10 Gbps की स्पीड होगी, 4g और 4.5g (LTE) नेटवर्क की तुलना में 10 से 100 गुना बेहतर
5g में 1-मिलीसेकंड विलंबता होगी.
5g में 1000x बैंडविड्थ/unit area इसमें मिलेगा.
प्रति यूनिट क्षेत्र से जुड़े उपकरणों की संख्या 100x होगी 4g, LTE (4.5g) की तुलना में
99.999% उपलब्धता इसमें होगी
100% कवरेज आपको मिलेगा 5g में
वीडियो कालिंग और इंटरनेट का आपको कई गुना बेहतर अनुभव प्राप्त होगा.
इसमें आप lot Devices का यूज आसानी से कर सकते हैं जिसमे आपको कई सालों तक पावर मिलेगी.
इस तकनीक में आपके मोबाइल की बैटरी खपत बहुत कम होगी.
जब आप किसी से भी बात करेंगे फोन पर तो आपको नेटवर्क में कोई रूकावट नहीं आएगी, बिलकुल किलियर बात हो सकेगी.

5g Network Technology कैसे काम (Work) करती है?

यदि हम बात करते हैं पहले वाली जनरेशन (Edge, 3g, H+, 4g, LTE, VoLTE) की वायर लेस टेक्नोलॉजी के बारे में तो इसमें लोअर फ्रेक्वेंसी बेंड का यूज किया जाता था. मिलीमीटर वेव चेलेंज जिसकी दूरी और इंटरफेस काफी ज्यादा होता है इसी के कारण वायरलेस कंपनियों ने 5g Network Technology में लोअर फ्रीक्वेंसी स्पेक्ट्रम का यूज करने का फैसला किया है. Lower frequency spectrum की सबसे ख़ास बात ये है की ये Millimeter Wave Challenge से काफी ज्यादा मात्रा में दूरि कवर करती है और साथ ही साथ सभी नेटवर्क ऑपरेटर ऐसे स्पेक्ट्रम का यूज कर सकेंगे जो उनके पास पहले से ही मौजूद होता है.

“अब बात करते हैं की 5g Network Technology कैसे काम (Work) करती है? तो Wireless के सभी Networks, Cell Sites से निर्मित होते हैं जिनको Sectors में विभाजित करके Redio Wave की सहायता से डेटा का ट्रांसमिशन किया जाता है. ऐसे ही काम करती है 5g तकनीक”

5g network countries कौन कौन सी हैं?

1st 5g network countries :- दक्षिण कोरिया

दक्षिण कोरिया में दो Service Provider 5g नेटवर्क के साथ पहले बाजार में आने की कोशिश कर रहे हैं. एसके टेलीकॉम ने 5g की तैनाती की प्रत्याशा में 3.5 Ghz और 28 Ghz आवृत्तियों में स्पेक्ट्रम का अधिग्रहण किया है. इस बीच, कोरिया टेलीकॉम ने अपनी घोषणा के साथ 2017 की शुरुआत में धूम मचा दी कि यह दक्षिण कोरिया के सियोल में 2018 शीतकालीन ओलंपिक से पहले 5 जी नेटवर्क का परीक्षण करेगा. परीक्षण नेटवर्क से बोक्वांग, गांगनेयुंग, जियोंगसेन, प्योंगचांग और सियोल में घटनाओं को कवर करने की उम्मीद है.

2nd 5g network countries :- चीन

चीन को भी 5g में फास्ट-मोवर होने की उम्मीद है. GSMA का अनुमान है कि 2025 तक चीन वैश्विक 5g कनेक्शन के 40 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व कर सकता है. चीन के सूचना और संचार प्रौद्योगिकी अकादमी के एक अध्ययन के अनुसार, उद्योग और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MIIT) के अनुसंधान हाथ, 5g 2025 में चीन के पूरे GDP के 3.2 प्रतिशत के लिए जिम्मेदार होने की उम्मीद है. इस्से 8M Jobs के अवसर खुलेंगे, और 2.9 जोड़ सकता है 2030 तक आर्थिक मूल्य में खरब युआन. भूखे उपभोक्ता अधिक से अधिक 5g सेवाओं की मांग करते हैं, देश को नई कंपनियों की संख्या, रोजगार के अवसरों और उपकरणों की बिक्री में भारी वृद्धि की उम्मीद बताई जा रही है.

3rd 5g network countries :- जापान

शीर्ष 5g नेटवर्क खिलाड़ियों में शामिल होने की उम्मीद में जापान अपना संचार उद्योग जुटा रहा है. निक्केई एशियन रिव्यू के अनुसार, 2020 के ओलंपिक के उद्घाटन समारोहों के लिए सुरक्षा से निपटने में सेवा की प्रभावशीलता का निर्धारण करने के लिए एनटीटी डोकोमो और सोहगो सिक्योरिटी सर्विसेज ने 5g नेटवर्क तकनीक पर आधारित एक उन्नत सुरक्षा सेवा का प्रदर्शन किया. परीक्षण में कृत्रिम बुद्धिमत्ता (AI), ड्रोन के साथ 4K HD कैमरा और स्मार्टफ़ोन का उपयोग शामिल था.

4th 5g network countries :- संयुक्त राज्य अमेरिका (USA)

5g नेटवर्क की दौड़ में USA के कुछ फायदे हैं. कहने का मतलब है, इसके पास पहले से ही एक लीड है जब स्पेक्ट्रम होल्डिंग्स और बिना लाइसेंस वाले स्पेक्ट्रम के उपयोग के लिए मौजूदा 4g नेटवर्क की बात आती है. Broad Band के लिए प्रसारण स्पेक्ट्रम के पुनर्विकास की अनुमति देते हुए, USA स्पेक्ट्रम दक्षता का मार्ग प्रशस्त करता है. हालाँकि, USA भी देशों के बीच 5g नेटवर्क की दौड़ में इसे धीमा करने के नुकसान है. स्थानीय और नगरपालिका सरकारें सेल टावरों और बेस स्टेशनों पर ज़ोनिंग प्राधिकरण रखती हैं, जो प्राधिकरण को धीमा कर सकती हैं - 5 जी के लिए एक संभावित बुरा संकेत, जो छोटी कोशिकाओं के घने नेटवर्क की विशेषता होगी.

5g launched किन किन countries में हुआ है?


बात करते हैं कि क्या किसी देश में 5g Network Technology लांच हुई है या नहीं तो इसका सीधा जबाब है की अभी नहीं. अभी इस पर काम जारी है. 2020 से लेकर 2025 तक ऊपर के देशों में लॉन्च होने की उम्मीद है और ये भारत में भी 5g, 2025 तक ही आप पाएंगे

क्या 5g Network Technology सुरक्षित है ?


4g नेटवर्क आज उपयोगकर्ता और उसके जुड़े डिवाइस और नेटवर्क के बीच मजबूत पारस्परिक प्रमाणीकरण करने के लिए यूएसआईएम एप्लिकेशन का उपयोग करते हैं. User Services Identity Module (USIM - उपयोगकर्ता सेवाएँ पहचान मॉड्यूल) एप्लिकेशन की मेजबानी करने वाली इकाई एक हटाने योग्य सिम कार्ड या एक एम्बेडेड यूआईसीसी चिप हो सकती है. विश्वसनीय सेवाओं को सक्षम करने के लिए यह मजबूत पारस्परिक प्रमाणीकरण महत्वपूर्ण है. सुरक्षा समाधान आज पहले से ही किनारे (डिवाइस) पर सुरक्षा और कोर (नेटवर्क) पर सुरक्षा के बीच मिश्रण हैं. कई सुरक्षा ढांचे भविष्य में सह-अस्तित्व में हो सकते हैं और 5g आज 4g नेटवर्क के लिए और क्लाउड (SE, HSM, प्रमाणन, ओवर-द-एयर प्रोविजनिंग और KMS) के लिए उपयोग किए जाने वाले मौजूदा समाधानों का फिर से उपयोग करने की संभावना है.




5g नेटवर्क के लिए मजबूत पारस्परिक प्रमाणीकरण के मानक को अभी अंतिम रूप नहीं दिया गया है. IoT सेवाओं के बढ़ते प्रभाव के साथ मजबूत नहीं होने पर 4 जी की तरह सुरक्षा, गोपनीयता और विश्वास की आवश्यकता होगी। उपकरणों में स्थानीय एसई न केवल नेटवर्क एक्सेस को सुरक्षित कर सकता है, बल्कि आईओटी के लिए आपातकालीन कॉल प्रबंधन और वर्चुअल नेटवर्क जैसी सुरक्षित सेवाओं का भी समर्थन करता है.

2 comments:

  1. nice article
    thankyou
    I would like to suggest you to have a look at my blog
    https://www.jobstringle.com/2019/01/opportunity-from-reliance-jio-infocomm.html

    ReplyDelete